कभी आश्चर्य हुआ कि सड़क मील के पत्थर पर अलग-अलग रंग के क्यों होते है ? यहाँ जानिए

कभी आश्चर्य हुआ कि सड़क मील के पत्थर पर अलग-अलग रंग के क्यों होते है ? यहाँ जानिए

भारत में यात्रा करते समय आपने अपने रास्ते पर मील का पत्थर तो देखा ही होगा। शहर के नाम के साथ मील का पत्थर, सड़क संख्या और आप किसी अन्य शहर से कितनी किलोमीटर दूर हैं। आपने ध्यान दिया होगा कि ये मील का पत्थर विभिन्न रंगों के होते हैं। कुछ पीले, कुछ नीले, कुछ काले, कुछ हरे, सफेद आदि। यदि आप सोच रहे हैं कि मील का पत्थर के विभिन्न रंग क्या बताते हैं, तो जवाब यहां है।

यह भी पढ़ें: जल्द ही पहली उड़ान भरेगा भारत का पहला मानव रहित लड़ाकू विमान, अब खैर नही चीन-पाकिस्तान की।

1. पीले रंग का मील पथ्थर

via

देश में यात्रा करते समय यदि आप कभी मील का पत्थर पर पीला रंग देखते हैं तो इसका मतलब है कि आप एक राष्ट्रीय राजमार्ग पर यात्रा कर रहे हैं। पीला रंग यह संकेत है कि जिस सड़क पर आप जा रहे हैं वह देश का राष्ट्रीय राजमार्ग है |

2. हरे रंग का मील पथ्थर 

via

एक राज्य से दूसरे राज्य में यात्रा करते समय आपको अक्सर इस तरह के हरे रंग के मील के पत्थर मिलते हैं। ये हरे रंग के मील का पत्थर यह बताने के लिए बनाए जाते हैं कि आप एक राज्य राजमार्ग पर यात्रा कर रहे हैं। तो यदि आप कभी भी एक हरे मील का पत्थर देखते हैं तो आपको पता चलेगा कि आप एक राज्य राजमार्ग पर यात्रा कर रहे हैं।

3. काला, नीला या सफेद रंगीन मील का पत्थर

via

किसी शहर में यात्रा करते समय यदि आप इस तरह के सफेद मील का पत्थर पाते हैं तो आप शहर की सड़कों पर पहुंच गए हैं और शहर के राजमार्गों पर यात्रा कर रहे हैं। यह गहरा नीला या काला रंग भी हो सकता है। यह बताता है की आप किसी शहर या जिला सड़क पर हैं।

4. ऑरेंज साइन बोर्ड

via

देश में यात्रा करते समय यदि आप कभी इस तरह के नारंगी साइनबोर्ड देखते हैं तो इसका मतलब है कि जिस सड़क पर आप यात्रा कर रहे हैं वह प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना का हिस्सा है। प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना सरकार की योजना बनाने वाली सड़क है। हमारे प्रधान मंत्री द्वारा यह योजना, श्री नरेंद्र मोदी शहरों के साथ गांवों को जोड़ती हैं और देश के सुधार के लिए विकसित की गई हैं।

यह भी पढ़ें: देश मे इस जगह है शिवलिंग में साक्षात महादेव विराजमान , हर साल शिवलिंग आकार हो रहा है बड़ा